मोदी सरकार 2.0: इन मंत्रियों के पास रहेंगे सबसे ज्‍यादा मंत्रालय

पीएम मोदी के अलावा तीन सहकर्मियों को 4-4 मंत्रालयों का जिस्ममा सौंपा गया है।
नई दिलवाली: राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह के अनुसार केंद्रीय मंत्रिपरिषद के सदस्यों के बीच विभागों के आवंटन का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत व पेंशन मंत्रालय, परमाणु ऊर्जा विभाग, अंतरिक्ष विभाग, सभी महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दे और अन्य सभी विभागों को किसी भी मंत्री को आवंटित न करके खुद के पास रखा है।
मोदी सरकार 2.0: इन मंत्रियों के पास रहेंगे सबसे ज्‍यादा मंत्रालय

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्रालय की कमान दी गई है, जबकि अमित शाह को गृह मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है। नितिन गडकरी, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री का पदभार संभालेंगे। डी.वी. सदानंद गौड़ा रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय को देखें। निर्मला सीतारमण वित्त मंत्री और कॉपोर्रेट मामलों की मंत्री बनी हैं।

सामान मंत्री:

नरेंद्र मोदी - प्रधानमंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, सभी सरकारी नीतिगत मामले, किसी मंत्री को न अलॉट किए गए मंत्रालय
रविशंकर प्रसाद - कानून और न्याय, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी
डॉ। हर्षवर्धन - स्वास्थ्य और परिवार काल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान
नरेंद्र सिंह तोमर - कृषि और किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज
प्रहलाद जोशी - संसदीय कार्य, मुर्गा, खान
यहां देखें मोदी सरकार के मंत्रियों की पूरी लिस्ट

राज्य मंत्री (लेखपाल)

डॉ। जितेंद्र सिंह - पूर्व क्षेत्र के विकास मंत्रालय। मुख्यमंत्री कार्यालय, लोक शिकायत और पेंशन, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष (MoS)
राजकुमार सिंह - विद्युत मंत्रालय, नवीन और ऋणी ऊर्जा मंत्रालय। कौशल विकास और उद्यमिता (MoS)
हरदीप सिंह पुरी - आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय। उद्योग और उद्योग (MoS)
राज्य मंत्री
धोत्रे संजय शामराव - मानव संसाधन विकास मंत्रालय, संचार मंत्रालय, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय
मोदी सरकार 2.0: इन मंत्रियों के पास रहेंगे सबसे ज्‍यादा मंत्रालय मोदी सरकार 2.0: इन मंत्रियों के पास रहेंगे सबसे ज्‍यादा मंत्रालय Reviewed by Praveen on May 31, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.