Election 2019: वोटों की गिनती होती है एहम जानिये किस तरह से होती है ये प्रक्रिया

देश में वोट डल चुके हैं। बस कुछ ही घंटेो में देश को नया प्रधानमंत्री मिल जाएगा। इस बारे में जानने में हर किसी को विशेष रूचि है। सुबह से ही हर कोई न्यूज चैनल पर नजर गढ़ाए बैठा है। वोटों कि गिनती चालू है और देश के कोनो कोनो से नतीजे आ रहे हैं। वोट की गिनती करना आसान नहीं है। एक दम सही और सटीक आंकड़ेड़ें देने वाले होते हैं। जो हर किसी के बस की बात नहीं है। इस एहम काम का पूरा जिम्मा चुनाव आयोग के कंधो पर होता है। आज जानिए किस तरह से होता है वोट की गिनती।
Election 2019: वोटों की गिनती होती है एहम जानिये किस तरह से होती है ये प्रक्रिया

क्या गिना जाता है

इनकी गिनती करना वैसे ही आसान नहीं होता है। वोट गिनने में कुल 90 करोड़ लोगों का वोट और इसी के साथ 8000 प्रत्याशी को ध्यान में रखना होता है।
कैसे होती है योजना
लगभग एक सप्ताह पहले ही क्लिकिंग ऑफिसर ये सुनिश्चित कर देता है कि कौनसी जगह पर गिनती शुरू होगी। इसके लिए विशेष रूप से एक सरकारी बोली का इस्तेमाल किया जाता है। बता दें कि ये बिल्डिंग कोई भी सरकारी स्कूल या फिर सरकारी कॉलेज हो सकती है। जिसमें एक हॉल हो और उधर 14 टेबल आराम से आ सके।

वोट की गिनती

सुबह 8 बजे से ये गिनती शुरू होती है। इस जगह पर सिर्फ RO, गिनती के कर्मचारी, उम्मीदवार, उनके चुनाव एजेंट और गिनती के एजेंट, ड्यूटी पर मौजूद लोक सेवक, के अलावा किसी को भी आने की अनुमति नहीं होती है। हर कैंडिडेट अपने लिए ज्यादा से ज्यादा 16 काउंटिंग एजेंट एक हॉल में अपने लिए निर्धारित कर सकते हैं। इनका काम होता है हर चीज़ को देखने के लिए कि गिनती में कोई आश्चर्य ना हो जाए।

मशीन में होता है सील बटन

चर्चित EVM मशीन में एक सील बंद बटन होता है। जिसको कंट्रोलर ऑफिसर को दबाने की सरती होती है। इसको खोलने से पहले एक ऑफिसर को एक रिजल्ट बटन को दबाना होता है और ये सील टूट जाता है। इसके बाद किस प्रत्याशी को कितने वोट मिले हैं स्क्रीन पर दिखने लगते हैं। जिसको देखने की राहती सिर्फ होल्डिंग ऑफिसर को होती है। इस बार की बात करें तो इस बार VVPAT मशीन भी है जो अफसरों की मदद करेगी गिनती करने में। इसके अलावा हाल ही में आये सुप्रीम कॉर्ट के बयान को देखते हुए हर पोलिंग स्टेशन की 5 वीवीपीएटी मशीन की पर्चियों की गन्ती जरूरी है।

फिर से गिनती करवा सकते हैं

इसके मुताबिक जो भी प्रत्याशी वोट की गिनती करवा रहा है अगर उसको लगता है कि वोट गिनने में चौंकाने वाला है। इसका कहना है कि एक बार और गिनती की जा सकती है। इसके बाद ऑफिसर सभी परिणाम के बारे में चुनाव आयोग को दे देता है। फिर चुनाव आयोग नतीजों की घोषणा कर देता है।

वोट की गिनती लोगों का प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 और 1961 में हुए चुनाव के हिसाब से होता है।
Election 2019: वोटों की गिनती होती है एहम जानिये किस तरह से होती है ये प्रक्रिया Election 2019: वोटों की गिनती होती है एहम जानिये किस तरह से होती है ये प्रक्रिया Reviewed by Praveen on May 23, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.