पिछड़े बलरामपुर में अब विकास की धारा बहेगी, सीएम योगी ने दिया पांच सौ पचास करोड़ का तोहफा, CM योगी ने दिया बलरामपुर विकास कार्यों का तोहफा

0



लखनऊ। शारदीय नवरात्रि के पहले दिन उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विकास के मामले में पिछड़े बलरामपुर को पांच सौ पचास करोड़ का तोहफा दिया है। बता दें कि जिले के पुलिस लाइन परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में सीएम योगी ने बलरामपुर में 67 परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इनमें से 124 करोड़ रुपये की लागत से बलरामपुर नगर परिषद में सीवरलाइन बिछाने की योजना सबसे महत्वपूर्ण है। विकास के मामले में, योगी सरकार भी कोरोना अवधि के दौरान तेजी से काम कर रही है। चाहे वह विकास से जुड़ा निर्माण कार्य हो या युवाओं को रोजगार देने की बात हो, योगी सरकार तैयार दिख रही है। गौरतलब है कि सीएम योगी ने शनिवार को बलरामपुर में जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया है, उनमें तीन राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय धरमपुर, बिरहिमपुर और रामंगरा, क्रमशः 60 बेड का छात्रावास शासकीय पॉलिटेक्निक उत्रुला बलरामपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, राजवपुर विकासखंड में है। ब्लॉक तुलसीपुर, पचपेड़वा में मिनी स्टेडियम, पंडित दीनदयाल उपाध्याय सरकारी आश्रम स्कूल, बालापुर शामिल हैं।

योगी मिशन शक्ति

इसके साथ ही सीएमएम योगी ने सेफ सिटी प्रोजेक्ट के पहले चरण में महिला बिजली लाइन 1090 और यूपी 112 के एकीकरण, 25 गुलाबी बूथों का निर्माण, 80 टर्मिनल कॉल सेंटर और डेटा एनालिटिक्स सेंटर का भी उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 52 परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी गई है। इनमें 124 करोड़ रुपये की लागत से नगर परिषद बलरामपुर में सीवरलाइन बिछाने, 121 करोड़ की लागत से घुगुलपुर बलरामपुर में 220 किलोवाट विद्युत सबस्टेशन की स्थापना, 16 करोड़ की लागत से पुलिस लाइन में ट्रांजिट हॉस्टल का निर्माण, ग्राम देउरी रेहरा ब्लॉक में महिलाओं के लिए आईटीआई की स्थापना, बहु-कार्यात्मक, सार्वजनिक हित जैसे कि 12 करोड़ रुपये की लागत से गवर्नमेंट कॉलेज गैसडी का भवन निर्माण शामिल है।

यह भी पढ़े -  चार धाम यात्रा: पीयूष गोयल को जोड़ने के लिए चार रेल लाइनें बिछाने वाली भारतीय रेल

योगी मिशन शक्ति उद्घटन

आपको बता दें कि शुक्रवार को सीएम योगी ने शुक्रवार को बलरामपुर जिले के किंग जॉर्ज विश्वविद्यालय, उत्तर प्रदेश, लखनऊ के सैटेलाइट सेंटर ‘अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज और मेडिकल कैंपस’ के तहत 300 बेड वाले अस्पतालों के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया था। । मुख्यमंत्री ने विकास परियोजनाओं को जनता को समर्पित करते हुए कहा कि ‘सबका साथ, सबका विकास’ हमारे मिशन का मात्र एक नारा नहीं है। विकास की दृष्टि से पिछड़ा बलरामपुर जिला आकांक्षात्मक जिले की श्रेणी में है। वर्तमान राज्य सरकार इसके विकास के लिए उत्साह के साथ काम कर रही है। अब बलरामपुर भी विकास की दौड़ में विकसित जिलों को टक्कर देगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here