बलिया में एसडीएम और सीओ के सामने फायरिंग, एक व्यक्ति की मौत, योगी सख्त, बलिया में एसडीएम और सीओ के सामने फायरिंग, एक व्यक्ति की मौत

0

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में अपराधी बहुत मजबूत हैं। राज्य के बलिया में कोटा आवंटन पर एक खुली बैठक के दौरान एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। यह घटना बलिया के दुर्जनपुर गांव में जिला प्रशासन की मौजूदगी में हुई। पुलिस के सामने हुई घटना से सनसनी फैल गई है। जबकि कई लोग झगड़े और अफरातफरी के बीच झगड़े में घायल हुए हैं। घायलों को सीएचसी सोनबरसा में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद से कई थानों की फोर्स मौके पर मौजूद है।

बलिया में फायरिंग

पूरे मामले पर मृतक के बेटे ने कहा कि सीओ, इंस्पेक्टर और मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में बदमाशों ने पिता को गोली मारी है। उसका कहना है कि पुलिस खड़ी रही और देखती रही। हालांकि, इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस घटना पर बलिया पुलिस ने कहा कि मामला संज्ञान में है। घटनास्थल पर पुलिस बल मौजूद है। मृतक का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। वहीं, इस पूरे मामले पर राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गई है। घटना को लेकर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने भाजपा पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा कार्यकर्ताओं के पास गुंडागर्दी का लाइसेंस है। जब शासक अपराधी होता है, कानून गुंडों का गुलाम होता है, तब संविधान को रौंदना राजधर्म बन जाता है। एसपी ने कहा कि सत्तारूढ़ अधिकारी कानून-व्यवस्था को खुले तौर पर चुनौती दे रहे हैं। बलिया में कानून-व्यवस्था की स्थिति दिखाने वाली एक भयावह घटना प्रकाश में आई है। भाजपा नेता ने एसडीएम और सीओ के सामने युवक जय प्रकाश पाल की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस के सामने गोली चलाने के बाद भाजपा नेता भी फरार हो गया।

यह भी पढ़े -  CM योगी ने की 50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि, BSF जवान के परिवार को दी नौकरी, J & K में शहीद

योगी आदित्यनाथ

सपा और कांग्रेस के आरोप पर बलिया के भाजपा जिलाध्यक्ष जय प्रकाश शाह ने कहा कि आरोपी धीरेंद्र सिंह भाजपा में किसी भी स्थिति में नहीं हैं। वहीं, आरोपी धीरेंद्र सिंह के फेसबुक अकाउंट के मुताबिक, वह 2011 से राजनीति से जुड़ा है और खुद को भाजपा का कार्यकर्ता बताता है।

इस पूरी घटना पर सीएम योगी सख्त हुए, कार्रवाई के निर्देश दिए

बलिया में हुई घटना की जानकारी मिलते ही सीएम योगी ने कार्रवाई की है। उन्होंने एसडीएम, सीओ और अन्य पुलिसकर्मियों को तत्काल निलंबित करने का आदेश दिया है। साथ ही आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

योगी गुस्सा

बलिया में हुई इस घटना का संज्ञान लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया कि मौके पर मौजूद एसडीएम, सीओ और पुलिस कर्मियों को तत्काल निलंबित किया जाए और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। यह भी कहा है कि अधिकारियों की भूमिका की जांच की जाएगी और जिम्मेदार लोगों के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here