पीएम मोदी ने भारत की राजनीति का चरित्र बदल दिया है

0
Advertisement

नई दिल्ली: भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राजनीति की शैली ने भारत की राजनीति के चरित्र को बदल दिया है क्योंकि 2014 से पहले कोई भी कार्य रिपोर्ट के बारे में बात नहीं करता था, लेकिन अब वे ऐसा करने के लिए मजबूर हैं।

Advertisement

“2014 से पहले, किसी ने अपना रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत नहीं किया। लोग सार्वजनिक पते पर अपनी जाति की बात करते थे और जाति और क्षेत्र के आधार पर वोट मांगते थे। 2014 में नरेंद्र मोदी ने भारत की राजनीति का चरित्र बदल दिया। अब जो भी पूर्व में किए गए कार्यों के आधार पर आएगा, “नड्डा ने एक सार्वजनिक रैली में कहा।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘तेजस्वी के पोस्टर लालू को नहीं दिखाते। मोदी जी की राजनीति ने लोगों को इतना जागरूक कर दिया है कि बेटा अपने ही पिता को पोस्टरों से हटा रहा है। तेजस्वी को पता है कि अगर लालूजी की फोटो है, तो यह उन्हें ‘लालटेन युग’ (लालटेन की उम्र) की याद दिलाएगा और जब जगत प्रकाश मोदीजी की फोटो के साथ बोलेंगे तो यह उन्हें ‘एलईडी युग’ की याद दिलाएगा।

पोल रैली में जेपी नड्डा के भाषण की झलकियां

# जब केंद्र पर करिश्माई और प्रगतिशील नेता प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी का शासन होगा और बिहार मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की कमान में है, तो प्रगति और विकास बिना रुके जारी रहेगा। यह इस कारण से है कि बिहार के लोग एनडीए को फिर से सत्ता में लाने के लिए अपना मन बना चुके हैं।

# आज राष्ट्रीय जनता दल के पोस्टरों में केवल तेजस्वी यादव की तस्वीरें दिखाई दे रही हैं जबकि लालू प्रसाद यादव की तस्वीरें गायब हैं। प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने हमारी राजनीतिक प्रणाली को इस तरह से साफ किया है कि आज एक बेटा चुनाव सामग्री से अपने पिता की तस्वीरों को हटाने के लिए मजबूर है। यह भारतीय लोकतंत्र और उसके लोगों की जीत है जो हमारी राजनीतिक व्यवस्था को साफ करना चाहते हैं।

यह भी पढ़े -  'रामायण और महाभारत को सुनकर मेरे बचपन का कुछ हिस्सा' ओबामा ने अपने संस्मरण में लिखा है

# तेजस्वी यादव जानते हैं कि अगर वह अपने पिता लालू जी की तस्वीरें राजद के पोस्टरों में लगाते हैं, तो लोगों को ‘लालटेन (लालटेन) शासन’ और उनके दुखों की याद दिला दी जाएगी। तथ्य यह है कि आज बिहार के लोग प्रगति, वृद्धि और विकास के ‘एलईडी शासन’ को देखना चाहते हैं, जिसे केवल मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में दिया जा सकता है। वे पहले ही एनडीए के तहत सुनहरा शासन देख चुके हैं और इसे जारी रखना चाहते हैं।

# तेजस्वी यादव आज कहते हैं कि वह रोजगार देंगे, लेकिन मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या उन्हें पता है कि यह लालू प्रसाद यादव के शासन में कुशासन और अराजकता के कारण था कि युवाओं को बिहार से पलायन के लिए मजबूर किया गया था और आपके पिता ने उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए परेशान नहीं किया था। बेहतर जीवन और आजीविका। यह प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार हैं जिन्होंने बिहार के लोगों को रोजगार और बेहतर जीवन सुनिश्चित किया है।

# भाकपा-माले बिहार में आरजेडी और कांग्रेस के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। ये लोग de टुकडे टुकडे ’गिरोह के हैं जो देश की अखंडता और शांति के साथ खेल रहे हैं। वे हिंसा में विश्वास करते हैं और हमारे कानूनों और व्यवस्था में विश्वास नहीं करते हैं। वे चाहते हैं कि अराजकता कायम रहे। सोचिए अगर ये अराजकतावादी और विभाजनकारी लोग बिहार की सत्ता में आते हैं तो क्या होगा।

यह भी पढ़े -  मांड्या में अरकेश्वर मंदिर के 3 पुजारियों की नृशंस हत्या, नकदी लूट

# यह वही आरजेडी है जिसने बिहार में चारवाहा स्कूल खोले और शिक्षा व्यवस्था को बर्बाद कर दिया। उन्होंने बड़े पैमाने पर ‘चारा घोटाला’ किया और बिहार को बर्बाद कर दिया। आज इसके नेता रांची में बैठे हैं। दूसरी ओर मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने बच्चों को अच्छी शिक्षा और संस्कृति दी।

# राजद शासन के दौरान बिहार में अराजकता और आतंक कायम रहा। आज जो लोग एनडीए शासन के सुशासन का आनंद ले रहे हैं, उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि राजद ‘जंगल राज’ के तहत उन्हें कैसे आतंकित और प्रताड़ित किया गया। बिहार के लोग राजद के ‘लालटेन शासन’, ‘बाहुबल’ और ‘जंगल राज’ के शासन में वापस नहीं आना चाहते। वे एनडीए के as विकस राज ’के तहत जीना और समृद्ध होना चाहते हैं।

# दुनिया ने स्वीकार किया और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोविद के खिलाफ भारत की लड़ाई की प्रशंसा की। लेकिन राहुल गांधी पाकिस्तान की तारीफ करने में व्यस्त हैं। पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में भारत के खिलाफ इसका इस्तेमाल करने के लिए राहुल गांधी के बयानों को उठाया है।
प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने भारतीयों के सपनों को पूरा करने के लिए धारा ३k० को समाप्त कर दिया, जिसमें ‘एक विद्या, एक प्रधान, एक निसान’ है। लेकिन कांग्रेस नेता पी चिदंबरम कह रहे हैं कि कांग्रेस सत्ता में आने पर धारा 370 को बहाल करेगी।

# एक और कांग्रेसी नेता पाकिस्तान गया और विदेशी धरती में भारत की खुलकर आलोचना की और पाकिस्तान की प्रशंसा की। क्या वह भारत या पाकिस्तान का प्रतिनिधि है? वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता होने का दावा करते हैं, लेकिन वे न तो भारतीय हैं और न ही राष्ट्रवादी।

यह भी पढ़े -  कमलनाथ को item आइटम ’जिब के लिए ईसी नोटिस मिला, 48 घंटे के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के लिए कहा गया

# पंडित जवाहरलाल नेहरू ने कहा था कि धारा 370 स्वचालित रूप से समय बीतने के साथ अप्रासंगिक हो जाएगी। उन्होंने कभी नहीं सोचा होगा कि उनके अपने महान पोते और उनकी अपनी पार्टी कांग्रेस भारत की संप्रभुता और अखंडता की कीमत पर धारा 370 को बहाल करने और बनाए रखने का प्रयास करेगी।

# प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का बिहार के साथ विशेष संबंध है। उन्होंने बिहार के लिए जो भी वादा किया है, वह पूरा किया है। उन्होंने न केवल बिहार को 25 लाख करोड़ रुपये का विशेष पैकेज दिया, बल्कि राज्य के विकास के लिए 40,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सहायता भी दी।

# आज मतदाता बुद्धिमान और बुद्धिमान बन गया है और पार्टी के लिए वोट करता है जो लोगों के लिए काम करता है। लोगों ने उन दलों को बदनाम किया है जो गुटबाजी में लिप्त हैं और धर्म और जाति की राजनीति करते हैं और लोगों को धोखा और धोखा देते हैं। बिहार के लिए भी यही सच है जो विकासोन्मुख एनडीए को वोट देता रहा है।

# बिहार में राजग शासन के दौरान 1.95 करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब वितरित किए गए, 1.28 करोड़ घरों में ‘इज्जत’ (सम्मान) का निर्माण किया गया और 29.59 लाख बिजली कनेक्शन सौभाग्या योजना के तहत दिए गए। मोदी सरकार ने बिहार में 11 नए मेडिकल कॉलेज खोले, जबकि पहले राज्य में सिर्फ 3 मेडिकल कॉलेज थे।

# प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 1 करोड़ 70 लाख रूपए की लागत वाली गाँव कल्याण योजना और 20 लाख रूपए की आत्मानबीर भारत योजना को किक करके हमारी अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढाँचे को भर दिया। इससे करोड़ों भारतीय श्रमिकों का सशक्तीकरण हुआ और गरीब मजदूर वर्ग की करोड़ों की आजीविका सुनिश्चित हुई।

Advertisement