पीएम मोदी शुक्रवार को ‘स्कूली शिक्षा में 21 वीं सदी में’ सम्मेलन को संबोधित करेंगे

0
Advertisement
Advertisement

नई दिल्ली: राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP-2020) के शुभारंभ के कुछ दिनों बाद, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शुक्रवार को “21 वीं सदी में स्कूली शिक्षा” पर एक सम्मेलन को संबोधित करेंगे।

दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन शिक्षा मंत्रालय द्वारा किया जाता है और यह ‘शिक्षा पर्व’ उत्सव का हिस्सा है।

एनईपी -२०२० ३४ वर्षों के समय में देश की शिक्षा नीति में पहला बड़ा परिवर्तनकारी परिवर्तन है। NEP-2020 को स्कूल और उच्च शिक्षा स्तर दोनों में प्रमुख सुधारों के लिए निर्देशित किया जाता है।

NEP 2020 का उद्देश्य भारत को एक समान और जीवंत ज्ञान समाज के रूप में विकसित करना है। यह एक भारत-केंद्रित शिक्षा प्रणाली को लागू करता है जो भारत को वैश्विक महाशक्ति में बदलने में योगदान देता है।

NEP-2020 देश में स्कूल शिक्षा में एक बड़ा बदलाव लाया। 10 + 2 + 3 शिक्षा मॉडल से, देश अब 5 + 3 + 3 + 4 पाठ्यक्रम संरचना की ओर बढ़ रहा है।

नई शिक्षा नीति - 2

एनईपी देश की शिक्षा प्रणाली में एक आदर्श बदलाव लाएगा और एक नए आत्मीयर्भर भारत के लिए एक मजबूत शैक्षिक पारिस्थितिकी तंत्र बनाएगा।

शिक्षकों को सम्मानित करने और नई शिक्षा नीति 2020 को आगे बढ़ाने के लिए 8 सितंबर से 25 सितंबर, 2020 तक शिक्षा पर्व मनाया जा रहा है।

Advertisement
यह भी पढ़े -  कर्नाटक के चित्रदुर्ग में बस में आग लगने से 5 की मौत, 27 घायल
ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे डेलीन्यूज़ 24 का एंड्राइड ऐपdailynews24