कोरोना अवधि के दौरान, मोदी सरकार के इस कदम का विपक्ष आश्वस्त था, चिदंबरम ने इस तरह से स्वागत किया…।

0



नई दिल्ली। ऐसा कम ही देखा जाता है कि विपक्षी दलों ने मोदी सरकार के किसी भी कदम का स्वागत किया हो। आपको बता दें कि कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार द्वारा जीएसटी मुआवजे के मुद्दे को हल करने के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेने के फैसले की सराहना की है। इस फैसले पर, पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट किया और लिखा, ‘अगर केंद्र सरकार ने 1.1 लाख करोड़ रुपये का ऋण लेने और राज्यों को देने का फैसला किया है, तो मैं इसके बदले हुए रवैये का स्वागत करता हूं। मैं सभी अर्थशास्त्रियों, शिक्षाविदों और अखबार के संपादकों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने हमारे रुख का समर्थन किया। ‘वास्तव में, केंद्र और कुछ राज्यों के बीच विवाद का विषय बन चुके जीएसटी मुआवजे के मुद्दे को सुलझाने की दिशा में पहल करते हुए, केंद्र सरकार ने गुड्स में संभावित कमी की भरपाई के लिए राज्यों से स्वयं 1.1 लाख करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। और सेवा कर (GST) राजस्व। ने कर्ज लेने की घोषणा की है। वित्त मंत्रालय ने इस संबंध में एक बयान जारी किया है।

चिदंबरम मोदी

कोरोना काल को देखते हुए, राज्यों की स्थिति उतनी अच्छी नहीं है। राज्य स्तर की अर्थव्यवस्था भी ध्वस्त हो गई है। वस्तु एवं सेवा कर (GST) संग्रह भी अर्थव्यवस्था में कम रहा है। जिसका असर राज्यों के बजट पर भी पड़ा है।

बता दें कि राज्यों ने वैट सहित स्थानीय कर्ज के बदले जीएसटी को स्वीकार कर लिया था। उन्होंने जुलाई 2017 में नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था को इस शर्त पर स्वीकार किया कि राजस्व संग्रह में किसी भी तरह की कमी की भरपाई केंद्र सरकार अगले पांच साल तक करेगी।

यह भी पढ़े -  राष्ट्रपति, पीएम मोदी ने रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए, उन्हें "ग्रामीण भारत की अभूतपूर्व समझ के साथ एक सच्चे पथ प्रदर्शक" के रूप में याद किया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here