Tesla के नए प्लांट में निकली बंपर वेकैंसी, 10 हजार लोगों को मिलेगी नौकरी, नहीं चाहिए कॉलेज की डिग्री

0
Advertisement

टेस्ला में नौकरियां: अमेरिका की प्रमुख इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी Tesla दुनिया भर में अपने नेटवर्क विस्तार में लगी है। हाल ही में कंपनी ने भारत में भी अपने ऑपरेशन शुरू करने की घोषणा की थी। फिलहाल कंपनी इस प्रोजेक्ट पर काम कर रही है, लेकिन इससे पहले टेस्ला ने अमेरिका के ऑस्टिन, टेक्सस स्थित नए गिगाफैक्ट्री में बंपर वेकैंसी निकाली है।

Advertisement

जानकारी के अनुसार इस फैक्ट्री में 10,000 नई नौकरियों के लिए वेकैंसी निकली है और सबसे खास बात ये है कि इन नौकरियों के लिए आवेदकों के पास किसी कॉलेज की डिग्री होना जरूरी नहीं है। बल्कि हाईस्कूल पास कैंडिडेट भी इन नौकरियों के लिए सीधे आवेदन कर सकते हैं। बता दें कि, अमेरिका में ये कंपनी की दूसरी फैक्ट्री है।

इस बाबत Tesla ने ऑस्टिन में कुछ स्थानीय कॉलेजों के साथ संपर्क किया है, जिनमें ऑस्टिन कम्युनिटी कॉलेज, हस्टन टिलॉट्सन यूनिवर्सिटी, टेक्सस यूनिवर्सिटी और डेल वैले इंडिपेंडेंट स्कूल डिस्ट्रिक्ट शामिल हैं। कंपनी के भर्ती प्रबंधकों में से एक क्रिस रेली ने एक विज्ञप्ति में बताया कि कंपनी इन कॉलेजों के साथ एक कार्यक्रम पर काम करने की योजना बना रही हैं, इसके तहत ऐसे छात्र जा हाई स्कूल पास आउट हैं और अपनी स्नातक की शिक्षा जारी रखते हुए टेस्ला के साथ जुड़कर अपने करियर की शुरूआत कर सकते हैं।

और पढ़े  भारत में लॉन्च हुई दमदार फीचर्स और शानदार लुक वाली ट्रायम्फ मोटरसाइकिल, जानिए क्या है कीमत


कंपनी ने टेक्सस गिगाफैक्ट्री के लिए मैन्युफैक्चरिंग, डिजाइन, आर्किटेक्चर, कंस्ट्रक्शन और फेसिलिटी सहित कई अन्य पदों पर सीधी भर्ती के लिए वेकैंसी निकाली है। कंपनी के बयान में कहा गया है कि, “हमारे पास एंट्री लेवल रोल्स के लिए मौके हैं, ऐसे लोग जो मैन्युफैक्चरिंग जैसे क्षेत्र से आ रहे हैं और उनमें काम के प्रति जूनून है वो हमसे जुड़ सकते हैं।”

Tesla के इस नए गिगाफैक्ट्री में नौकरियों के प्रति लोगों को प्रोत्साहित करते हुए कंपनी के सीईओ एलन मस्क ने भी हाल ही में ट्वीट किया था। मस्क ने अपने पोस्ट में लिखा कि, “गिगाफैक्ट्री के लिए आगामी 2022 तक तकरीबन 10,000 लोगों की जरूरत है। ये लोकेशन एयरपोर्ट से महज 5 मिनट, डाउनटाउन से 15 मिनट की दूरी पर कोलारेडो नदी के दायीं तरफ है।”

और पढ़े  Girls Power ने कर दिखाया कमाल, एमजी हेक्टर की 50,000 इकाइयों का किया निर्माण

बता दें कि, टेक्सस गिगाफैक्ट्री 4 से 5 मिलियन वर्ग फुट क्षेत्रफल में फैला है और ये Tesla की वाहन एसेंबली की चौथी फैक्ट्री है। गीगाफैक्टरी का पहला चरण इस साल मई तक पूरा होने की उम्मीद है जिसके बाद वाहनों का उत्पादन शुरू हो जाएगा। कंपनी यहां अपने Cybertruck से लेकर Roadster सहित कई वाहनों का निर्माण करेगी। इसके अलावा कंपनी ईस्ट कोस्ट के ग्राहकों के लिए अपने Model Y कार का प्रोडक्शन भी इसी फैक्ट्री में करेगी।

भारत में Tesla की एंट्री:

बता दें कि, Tesla बहुत जल्द ही भारत में भी अपने ऑपरेशन शुरू करने वाली है। बीते दिनों बेंगलुरु में टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी भी रजिस्टर करवाया गया है। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (RoC) के अनुसार, वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन को टेस्ला इंडिया के निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है। कंपनी का कॉर्पोरेट हेडक्वॉर्टर शहर के लावेल रोड पर स्थित है।

और पढ़े  BSNL ने बढ़ाई इस पॉप्युलर प्लान की कीमत, रोज मिलता है 2GB डेटा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा ने बीते दिनों स्पष्ट रूप से कहा था कि Tesla कर्नाटक में अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाएगी। इसके लिए राज्य के तुमकुर जिले में एक इंडस्ट्रियल कॉरिडोर भी बनाया जाएगा। उन्होनें कहा कि, टेस्ला के भारत में आने से कई तरह के लाभ होंगे, सबसे बड़ा लाभ ये होगा कि लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होनें अंदाजा लगाया है कि टेस्ला के भारत में एंट्री से तकरीबन 2.8 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here