Know why! Volkswagen का नाम बदलकर ‘Voltswagen’ करने की योजना

0
Advertisement

वोक्सवैगन समूह ने संयुक्त राज्य अमेरिका में अपना व्यापार नाम बदलने के बारे में एक बड़ा खुलासा किया है। कंपनी ने इसका नाम बदलकर has वोल्टासवेगन ’रखने की योजना बनाई है क्योंकि यह तेजी से इलेक्ट्रिक वाहनों पर अपना उत्पादन केंद्रित करती है। यह अपने वाहनों के उत्सर्जन की माप में धोखाधड़ी पर एक घोटाले से दूरी बनाने की कोशिश कर रहा है।

Advertisement

जर्मन ऑटो दिग्गज वोक्सवैगन ने मंगलवार को अपना नाम बदलने की आधिकारिक घोषणा की। कंपनी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर एक बयान में नाम बदलने की घोषणा करते हुए पोस्ट किया, लेकिन बाद में बयान वापस ले लिया गया। इस बीच, VW अपनी नई लॉन्च की गई ID.4 इलेक्ट्रिक SUV के लिए बुकिंग स्वीकार कर रहा है। मॉडल की बिक्री केवल संयुक्त राज्य अमेरिका में है और आश्चर्यजनक रूप से यह बिक्री के लिए कंपनी का एकमात्र नया इलेक्ट्रिक मॉडल है, हालांकि अधिक के लिए योजनाएं हैं। बिक्री के लिए ID.4 के साथ भी, अमेरिकी सड़कों पर Volkswagens का केवल एक छोटा सा अंश ‘Voltswagen’ नाम को ले जाएगा।

और पढ़े  पोर्श टायकन ने पेश की नई कार, जानिए इसके फीचर्स

रिपोर्टों के अनुसार, यूएसए में निकट भविष्य में कंपनी का वाहन गैसोलीन-संचालित होता रहेगा और वोक्सवैगन की ब्रांडिंग होती रहेगी। वोक्सवैगन ग्रुप ऑफ अमेरिका नाम, जिसमें ऑडी, बेंटले, बुगाटी, और लेम्बोर्गिनी ब्रांड भी शामिल हैं, नहीं बदलेगा। बल्कि, वोक्सवैगन ब्रांड में केवल “K” को “T” में बदल दिया जाएगा।

सूत्रों का कहना है कि कंपनी अपने इलेक्ट्रिक वाहनों में ‘वोट्सवैगन’ नाम के साथ एक बाहरी बैज लेगी, जबकि गैसोलीन वाहनों में अभी भी ‘VW’ नहीं बल्कि कोई भी व्यापार नाम होगा। जर्मन ऑटोमेकर 2015 में अमेरिकी अधिकारियों की खोज के बाद अपनी छवि को साफ करने की कोशिश कर रहा है कि इसके तथाकथित “स्वच्छ” डीजल वाहनों को उत्सर्जन परीक्षणों में धोखा मिला। जिसके बाद VW ने 2017 में दोषी करार दिया और दो लोग जेल में बंद हो गए। कंपनी सिविल और आपराधिक दंड में $ 4.3 बिलियन का भुगतान करने के लिए भी सहमत हुई।

और पढ़े  Tesla के नए प्लांट में निकली बंपर वेकैंसी, 10 हजार लोगों को मिलेगी नौकरी, नहीं चाहिए कॉलेज की डिग्री

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here