समर सिंह के हाथों हुआ बीएफए Music कंपनी की ओपेनिंग

0
Advertisement
Advertisement
समर सिंह के कारण बीएफए म्यूजिक कंपनी खुलती है
समर सिंह के कारण बीएफए म्यूजिक कंपनी खुलती है

भोजपुरी सिनेमा के स्टाइलिश स्टार समर सिंह के कर कमलों द्वारा बीएफए म्यूजिक म्यूजिक कंपनी की ओपेनिंग किया गया। इस म्यूजिक कंपनी के ओपेनिंग होने से बहुत से प्रतिभशाली गायक कलाकारों को सुनहरा अवसर मिलेगा। विदित हो कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमती नगर स्थित भारत फ़िल्म अकैडमी के ऑफिस में भव्य पैमाने बीएफए म्यूजिक  कंपनी ओपेनिंग किया गया। जिसमें चीफ गेस्ट समर सिंह मौजूद थे और उनके ही हाथों म्यूजिक कंपनी की ओपनिंग भी की गई। साथ ही समर सिंह का गाना ले ली जवनिया एयर लांच किया गया। कंपनी के ओनर ने अरुण सिंह ने कहा कि समर सिंह ने भोजपुरी गाने को एक अलग दौर ला दिया है। आज भोजपुरी अल्बम के गानों में खेत-खलिहान और माटी से जुड़े ऑडियो वीडियो देखने को मिल रहा है। इसलिये बहुत सौभाग्य की बात है कि हम उनके  साथ काम कर रहे हैं और आगे भी करते रहेगे। नई म्यूजिक कंपनी की ओपेनिंग पर समर सिंह ने हार्दिक बधाई दी और म्यूजिक कंपनी की सफलता की कामना की। साथ ही सहयोग देने की बात कही।

समर सिंह के कारण बीएफए म्यूजिक कंपनी खुलती है
समर सिंह (1) के कारण बीएफए म्यूजिक कंपनी खुली

हम बात करें भारत फ़िल्म एकडेमी  की तो वह लखनऊ की ऐसी उच्च कोटि की संस्था है। जो कलाकारों को आगे बढ़ाने की ट्रेनिंग व परिक्षण करती है।  इस संस्था के डायरेक्टर अरुण सिंह व प्रमिली सिंह हैं। उन्होंने संयुक्त रूप से मीडिया  से बातचीत में बताया कि भारत फ़िल्म एकेडमी एक ऐसा माध्यम है, जिसमें स्टूडेंट्स को फिल्म/टीवी सीरियल में काम करने के लिए अभिनय की बारीकी सिखाई जाती है। इस एकेडमी की सबसे खास बात यह है कि यहां पर छात्रों को प्रवेश लेने के लिए उनकी पढ़ाई की किसी भी सीमा का निर्धारण नहीं किया जाता, बस उनको पढ़ना और लिखना आता हो।

यह भी पढ़े -  Pawan Singh और Kajal Raghwani का रात वाला Romance नाश दिए Kajal की जवानी
समर सिंह के कारण बीएफए म्यूजिक कंपनी खुलती है
समर सिंह के कारण बीएफए म्यूजिक कंपनी खुलती है

इस एकेडमी में हिंदी के साथ साथ भोजपुरी भाषा के लिए भी प्रशिक्षण दिया जाता है। इस एकेडमी में शिक्षक – शिक्षण के लिए हिंदी और भोजपुरी भाषा का ही इस्तेमाल करते हैं, इसलिए छात्रों को घबराने की जरूरत नहीं। परंतु अंग्रेजी और मराठी दोनों भाषाओं को यहां सिखाया जाता है। इस एकेडमी में छात्रों के रहने और खाने की पूरी व्यवस्था की गई है। इस एकेडमी में छात्रों को अभिनय की बारीकियां नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा, फिल्म इंस्टीट्यूट पुणे और फिल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे एक्टर और निर्देशकों द्वारा सिखाई जाती है। अतः इस एकेडमी में पढ़ने वाले छात्रों को उनके द्वारा निर्देशित की जा रही फिल्मों में काम मिलने की शत-प्रतिशत गारंटी रहती है। अर्थात इस एकेडमी में से जो भी छात्र अपने कोर्स को पूर्ण करते हैं, उनको इंडस्ट्री में काम करना बहुत आसान हो जाता है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि जो भी फिल्मों और सीरियल्स में अभिनय करना चाहते हैं उनके लिए भारत फिल्म एकेडमी उस जहाज की तरह है, जो लंबे सफर में उनको किनारे तक पहुंचाने में उनकी मदद करता है।


Advertisement
ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे डेलीन्यूज़ 24 का एंड्राइड ऐपdailynews24