आंध्र-प्रदेश-भारतीय-रेलवे-लोको पायलट-बचाने जीवन-युवा-आत्महत्या

आंध्र प्रदेश के विजयनगरम में एक ट्रेन ड्राइवर ने अपनी बुद्धिमत्ता और मुस्तैदी से आत्महत्या करने वाले युवक की जान बचाई है। बताया जाता है कि ट्रेन के ड्राइवर ने समय पर इमरजेंसी ब्रेक का इस्तेमाल किया और रास्ते में एक युवक की जान बचाई।

घटना विजयनगरम के कोरुकोंडा में हुई। यहां एक ट्रेन चालक विशाखापट्टनम से विजयनगरम की ओर एक खाली ट्रेन ले जा रहा था। इस बार, जब ट्रेन लंबी थी, ट्रेन चालक ने ट्रेन के ट्रक पर सोते हुए युवक को आत्महत्या करते देखा। उन्होंने ट्रेन और ट्रैक पर सो रहे युवक के बीच ज्यादा दूरी नहीं होने पर सतर्कता दिखाते हुए इस युवक की जान बचाने की कोशिश की।

इस बीच, ट्रेन चालक ने अपने हॉर्न बजाकर युवक को चेतावनी देने की कोशिश की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। इस बार, जब ट्रेन तेज गति से चल रही थी, ड्राइवर ने बिना कुछ सोचे ट्रेन में इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया। इमरजेंसी ब्रेक लगाकर तेज रफ्तार ट्रेन को जोरदार टक्कर मारी गई और तेज रफ्तार ट्रेन युवक के सामने आकर रुक गई। इस बार ट्रेन धीमी हो गई और चालक ने दौड़ती हुई ट्रेन से कूदकर युवक की जान बचाई।

ट्रेन चालक ने घटना की सूचना नजदीकी स्टेशन मास्टर और रेलवे अधिकारियों को दी और आत्महत्या करने वाले युवाओं को उन्हें सौंप दिया। स्टेशन मास्टर ने आत्महत्या करने के इरादे से ट्रैक पर अपना जीवन समाप्त करने वाले युवक के साथ बातचीत की और उसे समझाया। रेलवे अधिकारियों ने युवक को उसके परिवार को सौंप दिया है। स्थानीय पुलिस को भी इस मामले की जांच करने के लिए कहा गया है।

अगर हमारा पोस्ट आप लोगो को पसंद आया तो हमारे फेसबुक पेज को फॉलो और लाइक जरूर करे।
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here