26 रुपए लेकर मुंबई आए थे जीवन, बने थे बॉलीवुड के पहले नारद मुनि

0
Advertisement

ओंकार नाथ धर बॉलीवुड के नारदमुनि का असली नाम था। ओंकार नाथ धर का आज ही के दिन निधन हो गया था। 10 जून 1987 की बात है। 71 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। ओंकार नाथ धर एक महान अभिनेता थे और उनका जन्म 24 अक्टूबर, 1915 को एक कश्मीरी पंडित परिवार में हुआ था। वह 24 भाई-बहन थे और उनके जन्म के बाद ही उनकी मां का निधन हो गया था। उसके बाद जब वह तीन साल के हुए तो उनके पिता का देहांत हो गया।

Advertisement

नारदमुनि का किरदार निभाकर उनके जीवन को लोकप्रियता मिली और लोग उन्हें इसी नाम से जानने लगे। उन्होंने हमेशा खलनायक की भूमिका निभाई थी। आप सभी ने उन्हें कई फिल्मों में विलेन के तौर पर देखा होगा. आपको जानकर हैरानी होगी कि उन्होंने न केवल बॉलीवुड में बल्कि कई अलग-अलग भाषाओं की 60 फिल्मों में नारद की भूमिका निभाई। आपको बता दें कि जीवन ने 60, 70 और 80 के दशक में फिल्मों में खलनायक की भूमिका निभाई है और प्रसिद्ध अभिनेता किरण कुमार जीवन के पुत्र हैं।

और पढ़े  तारक मेहता फेम बबीता की मुश्किलें बढ़ीं; किसी भी क्षण गिरफ्तारी हो सकती है!

कहा जाता है कि जीवन जब मुंबई पहुंचा तो उसकी जेब में सिर्फ 26 रुपए थे। जीवन ने शुरुआत में निर्देशक मोहनलाल सिन्हा के स्टूडियो में काम किया था। यहां मोहनलाल ने उन्हें अपनी फिल्म ‘फैशनेबल इंडिया’ में रोल दिया लेकिन जीवन को पहचान 1935 में आई फिल्म ‘रोमांटिक इंडिया’ से मिली। इस फिल्म के बाद जीवन ने अफसाना, स्टेशन मास्टर, अमर अकबर एंथनी, नागिन, शबनम, हीर-रांझा, जॉनी मेरा नाम जैसी यादगार फिल्मों में काम किया।

जीवन जानता था कि वह हीरो नहीं बन सकता और इसने उसे खलनायक बना दिया। जीवन के दो बेटे हैं- किरण कुमार और भूषण जीवन। किरण कुमार बॉलीवुड और टीवी के जाने माने अभिनेता हैं। वहीं उनके दूसरे बेटे भूषण जीवन की 1997 में लीवर फेल होने से मौत हो गई थी।

और पढ़े  Interview: 'साइलेंस' के साथ धमाकेदार वापसी से ख़ुश प्राची देसाई बोलीं- 'मनोज बाजपेयी के साथ एक फ़िल्म करना काफ़ी नहीं'

.

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here