हिंदी फिल्मों के सबसे लोकप्रिय खलनायकों की चर्चा होती है

हिंदी फिल्मों के सबसे लोकप्रिय खलनायकों की चर्चा होती है, तो लिस्ट में “मिस्टर इंडिया

Advertisement
Advertisement
” के मोगैम्बो का नाम जरूर होगा। यह किरदार अभिनेता अमरीश पुरी द्वारा निभाया गया था। इस किरदार के पीछे फिल्म निर्माताअों को काफी मेहनत करनी पड़ी थी। फिल्म के लिए अमरीश पुरी किसी की भी पहली पसंद नहीं थे। प्रोड्यूसर बोनी कपूर इस किरदार के लिए किसी नए चेहरे को ढूंढ रहे थे, जो ‘शोले’ के गब्बर जितना खतरनाक और ‘शान’ फिल्म के शाकाल जितना खूंखार दिखे।

टेलर को मोगैम्बो की ड्रेस के लिए दोगुने पैसे मिले

नए चेहरे की तलाश करीब दो महीने तक चली मगर प्रोड्यूसर और कास्टिंग डायरेक्टर को कोई ऐसा नहीं मिला, जो इस किरदार को कर सके। आखिर में निर्माता बोनी कपूर, लेखक जावेद अख्तर और निर्देशक शेखर कपूर ने अमरीश पुरी के नाम पर फैसला किया। बोनी कपूर के अनुसार, पुरी इस भूमिका के लिए इतने उत्साहित थे कि उन्हें विग, पोशाक और सहायक उपकरण के साथ अपने लुक से बना एक स्केच मिला। निर्माता ने जाने-माने बॉलीवुड दर्जी माधव अगस्ती से वादा किया कि अगर उन्होंने स्केच को हूबहूू पर्दे पर उतार दिया, तो वह उन्हें दोगुनी फीस देंगे। बोनी कहते हैं, ‘पुरी जी इस रोल के लिए काफी उत्साहित थे। उन्होंने माधव दर्जी और उनके मेकअप मैन गोविंद के साथ उनके लुक पर काम किया। जबकि संवाद, पंच लाइन जावेद साहब की पटकथा में लिखी गई थी, उनके लुक ने मोगैम्बो के व्यक्तित्व में चार चांद लगा दिए।’ बोनी कहते हैं, फिल्म रिलीज के बाद मोगैम्बो का लुक ही यादगार बन गया।

खुद भी सजेशन दिया करते थे अमरीश

“मिस्टर इंडिया” से पहले, बोनी कपूर और अमरीश पुरी ने 1980 की फ़िल्म “हम पांच” में साथ में काम किया था। जिसने पुरी को नकारात्मक भूमिकाओं में लोकप्रिय बनाया। यही वह समय था जब प्राण और प्रेमनाथ खलनायक के रूप में राज कर रहे थे और प्रमुख चरित्र भूमिकाओं में थे और पुरी थिएटर में काम कर रहे थे, साथ ही कुछ अच्छी फिल्मों के साथ श्याम बेनेगल भी थे। बोनी कपूर ने कहा, ‘फिल्म ‘हम पांच’ के लिए, अमरीश जी ने बापू (फिल्म के निर्देशक) से उनके चरित्र की बारीकियों को समझा और अपने लुक के लिए अपना खुद का काम किया। लाल शाल जो उन्होंने फिल्म में पहना था, वह फिल्म ‘पोंगा पंडित’ के लिए था। शाॅल पर सूरज की तस्वीर शक्ति का प्रतीक थी जो उन्होंने सोचा था कि यह जमींदार के चरित्र को और प्रभावी बना देगा।’

सबसे ज्यादा सैलरी लेने वाले खलनायक थे

पुरी को “हम पांच” के लिए 40,000 रुपये में साइन किया गया था और निर्माता ने उन्हें फिल्म के सफल होने पर बोनस के रूप में 10,000 रुपये देने का वादा किया था। जब फिल्म हिट हो गई, तो अभिनेता को उसकी फीस के रूप में 50,000 रुपये का भुगतान किया गया। अमरीश पुरी ने “विधाता”, “शक्ति”, “हीरो”, “विश्वात्मा”, “मेरी जंग”, “त्रिदेव”, घायल “,” करण अर्जुन “जैसी कई फिल्मों में खलनायक की भूमिका निभाई। उन्होंने हॉलीवुड निर्देशक स्टीवन स्पीलबर्ग की 1984 की फिल्म “इंडियाना जोन्स एंड द टेम्पल ऑफ डूम” में मुख्य भूमिका निभाई और बाॅलीवुड में सबसे अधिक भुगतान पाने वाले खलनायक बन गए।

नवीनतम अपडेट प्राप्त करने के लिए DailyNews24 एंड्रॉइड ऐप भी डाउनलोड करें। अगर हमारा पोस्ट आप लोगो को पसंद आया तो हमारे फेसबुक पेज को फॉलो और लाइक जरूर करे।

 

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here