लाइफस्टाइल। शास्त्रों के अनुसार आपको बता दे की अगरबत्ती एक ऐसी चीज है जिसका प्रयोग अपनी पूजा में हिंदू और मुस्लिम दोनों ही करते हैं। दोस्तों मान्यता है कि अगरबत्ती का धुआं घर से निगेटिव एनर्जी का खात्मा करता है। दोस्तों इसके धुएं से वातावरण शुद्ध और पवित्र हो जाता है। इसलिए कुछ घरों में तो सुबह-शाम भगवान के घर के सामने अगरबत्ती जलाई जाती है।

दोस्तों आपको बता दे की बांस को जलाना उचित नही माना जाता है, यहां तक हिंदू धर्म में विवाह में भी बांस का सामान बेटी के कन्यादान में दिया जाता है। दोस्तों जिसका अर्थ होता है कि बांस यानी वंश, जिससे बेटी जिस घर में जाए उस घर का वंश बढ़ता रहे, लेकिन दोस्तों आपको बता दे की आजकल लोग देवी-देवताओं को प्रसन्न करने के लिए बांस की लकड़ियों से बनी अगरबत्ती का उपयोग करते है, जो अनुचित है। दोस्तों इसके बजाए गाय के गोबर में गूगल, घी, चंदन, कपूर आदि मिलाकर छोटी-छोटी गोलियां बना कर सूखा कर उन्हें जलाना चाहिए। दोस्तों इससे वातावरण शुद्ध होता है।

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दे की गाय के पंचगव्य से निर्मित धूप बहुत ही अच्छी होती है , क्योंकि इससे ऋषि मुनि भी हवन आदि करते रहे है। दोस्तों धूप जलाने से ऊर्जा का सृजन होता है। स्थान पवित्र हो जाता है व मन को शांति मिलती है। इनसे नकारात्मक ऊर्जाओं वाली हवा दूर हो जाती है। इसलिए प्रतिदिन धूप जलाना अति उत्तम और बहुत शुभ है।

.

और पढ़े  अगर आप पहली बार रख रहे हैं पौधे, तो इन पौधों को घर के अंदर सजाने में कर सकते हैं इस्तेमाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here