26 मई को लगेगा साल का पहला चंद्र ग्रहण, जानिए भारत पर इसका कितना पड़ेगा असर?

0
Advertisement

साल का पहला चंद्र ग्रहण मई के महीने में होने वाला है। 26 मई को चंद्रग्रहण होगा। खास बात यह है कि इस दिन बैसाखी पूर्णिमा भी पड़ रही है। आइए जानते हैं कि यह चंद्रग्रहण कैसा होगा और किस समय लगेगा। साथ ही आपको पता है कि यह ग्रहण कहां देखा जाएगा और भारत में इसका क्या प्रभाव पड़ेगा।

चंद्र ग्रहण का समय: – 26 मई को चंद्रग्रहण दोपहर 2.17 बजे शुरू होगा और शाम 7.19 बजे समाप्त होगा। ग्रहण का सबसे बड़ा प्रभाव वृश्चिक और अनुराधा नक्षत्र पर पड़ेगा।

कैसा रहेगा ग्रहण: – साल का पहला चंद्रग्रहण होगा सूक्ष्‍म ग्रहण। छाया होने के नाते, इस ग्रहण के धार्मिक प्रभाव को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

और पढ़े  अपने प्रियजनों को इस अनोखे तरीके से जन्मदिन की शुभकामनाएं दें

दिखाई देने वाला चंद्र ग्रहण: – 26 मई को होने वाला चंद्रग्रहण पूरी तरह से अमेरिका, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा, जबकि भारत में यह उप-ग्रहण के कारण दिखाई देगा।

सूतक काल का समय: – यह चंद्रग्रहण सूक्ष्‍म चंद्रग्रहण है। कोई भी धार्मिक कार्य उपश्रम के ग्रहण में निषिद्ध नहीं है। इसलिए इस दिन को सूतक काल नहीं माना जाएगा। ग्रहण काल ​​में भी मंदिर के कपाट बंद नहीं होंगे। इस दिन किसी भी शुभ कार्य पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।

क्या है सूर्य ग्रहण जब चंद्रमा पृथ्वी की वास्तविक छाया में प्रवेश किए बिना बाहर निकलता है, तो उसे उप ग्रहण ग्रहण कहा जाता है। जब चंद्रमा पृथ्वी की वास्तविक छाया में प्रवेश करता है, तो कुल चंद्र ग्रहण होता है। सुभद्रा ग्रहण को वास्तविक चंद्रग्रहण नहीं माना जाता है।

और पढ़े  वुडेन फर्नीचर खरीदते समय रखें इन बातों का विशेष ध्यान, नहीं लगेगा वास्तु दोष

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here