Rajasthan trip : होली के बाद घूमने का बना रहे है प्लान तो राजस्थान के ये 4  जगह है सबसे बेहतरीन

0
Advertisement

जयपुर

राजस्थान राज्य की राजधानी जयपुर की स्थापना 1727 में कछवाहा राजपूत शासक सवाई जयसिंह द्वितीय द्वारा की गई थी, जो अंबर के शासक थे। इसकी इमारतों के गुलाबी रंग के कारण जयपुर को पिंक सिटी ऑफ़ इंडिया के नाम से भी जाना जाता है। इस शहर की योजना वैदिक वास्तु शास्त्र (भारतीय वास्तुकला) के अनुसार की गई थी। 2008 के कॉनडे नास्ट ट्रैवलर रीडर्स चॉइस सर्वे में, जयपुर को एशिया में घूमने के लिए सर्वश्रेष्ठ स्थानों में से सातवां स्थान दिया गया था।

क्या देखें−

– सिटी पैलेस

– आमेर का किला

– नाहरगढ़ का किला

– जयगढ़ किला

– हवा महल

– जल महल

– जंतर मंतर

– पिंक सिटी बाज़ार

– अल्बर्ट हॉल संग्रहालय

– बिरला मंदिर

– गोविंद देव जी मंदिर

और पढ़े  Holi 2021 : घर पर इस तरह बनाएं हर्बल गुलाल, चेहरे पर नहीं होगा कोई साइड इफेक्ट

उदयपुर

इसे झीलों का शहर भी कहा जाता है। यह शहर मेवाड़ के सिसोदिया राजपूतों की राजधानी था और अपने महलों के लिए प्रसिद्ध है जो राजपुताना शैली की वास्तुकला की भव्यता का प्रतीक है। उदयपुर की स्थापना 1553 में सिसोदिया राजपूत शासक महाराणा उदय सिंह द्वितीय ने की थी। आज यहां पर अधिकांश महलों को होटलों में बदल दिया गया है और दूर−दूर से लोग इन होटलों में आकर एक राजसी अनुभव करना चाहते हैं।

क्या देखें−

– सिटी पैलेस

– पिछोला झील

– लेक पैलेस

– लेक गार्डन पैलेस

– रॉयल विंटेज कार संग्रहालय

– बागोर की हवेली

– सहेलियों की बाड़ी

– जगदीश मंदिर

– शिल्पग्राम

– मोती मगरी

जोधपुर

जोधपुर न सिर्फ राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा शहर है, बल्कि यह जयपुर के बाद राजस्थान का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला शहर भी है। शहर की स्थापना 1459 में राठौड़ राजपूत शासक, मारवाड़ के राव जोधा सिंह द्वारा की गई थी। जोधपुर को सन सिटी भी कहा जाता है। इसे पश्चिमी राजस्थान का सबसे महत्वपूर्ण शहर माना जाता है क्योंकि यह भारत−पाकिस्तान सीमा से केवल 250 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जोधपुर एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल भी है। यहां पर आने वाले सैलानियों के लिए देखने के लिए बहुत कुछ है।

और पढ़े  धन प्राप्ति का मार्ग खोल सकते हैं आपके द्वारा शुक्रवार को किये गए ये 2 उपाय

क्या देखें−

– मेहरानगढ़ का किला

– उम्मेद भवन पैलेस

– जसवंत थड़ा

– मंडोर गार्डन

– कायलाना झील

– राव जोधा डेजर्ट रॉक पार्क

– घंटाघर

– चामुंडा माता मंदिर

– बालसमंद झील

– मसूरी हिल्स गार्डन

बीकानेर

बीकानेर शहर की स्थापना राठौर राजपूत शासक राव बीका द्वारा 1488 में की गई थी। राव बीका राठौड़ शासक राव जोधा के पुत्र थे जिन्होंने जोधपुर की स्थापना की थी। आज बीकानेर एक और प्रमुख पर्यटन स्थल है और अपनी मिठाइयों और स्नैक्स के लिए प्रसिद्ध है। यह स्थान मुख्यतरू रूप से अपने किलों और भोजन के लिए जाना जाता है। यदि आप राजस्थानी व्यंजनों का वास्तविक स्वाद उठाना चाहते हैं तो यह इस शहर में जरूर घूमने जाएं। बीकानेर में कई तरह के मेलों का आयोजन किया जाता है, जिसमंे शामिल होने के लिए सिर्फ भारत ही नहीं, दुनियाभर से आगंतुक आते हैं।

और पढ़े  केरल की इन जगहों पर आ ले सकते है गर्मी के मौसम का मजा...

क्या देखें−

– जूनागढ़ का किला

– लालगढ़ पैलेस

– श्री लक्ष्मीनाथ मंदिर

– गंगा सिंह संग्रहालय

– सादुल सिंह संग्रहालय

– जैन मंदिर

Advertisement
Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here