गर्मी में उल्टी, दस्त व पेट में मरोड़-दर्द की समस्या बढ़ जाती हैं

गर्मी में उल्टी

Advertisement
Advertisement
, दस्त व पेट में मरोड़-दर्द की समस्या बढ़ जाती हैं. डायरिया से लो बीपी व बेहोशी जैसे लक्षण दिखने लगते हैं. अगर ऐसा हो रहा है तो एक कटोरी अनार के दाने खाने से तुरंत आराम मिलता है. इससे कोलाइटिस तक में भी राहत मिलती है. छाछ में हींग या जीरा व कालानमक मिलाकर पी सकते हैं. डायरिया होने पर कच्चे बेल को आग में भूनकर पका लें फिर इसका शर्बत बना लें या ऐसे भी खा सकते हैं. इसमें बेल का पाउडर भी पानी के साथ लेने से आराम मिलता है. एक गिलास पानी में एक चुटकी नमक, नींबू का रस मिलाकर पीएं.

अस्थमा व आर्थराइटिस में लीची खाने से आराम
लीची खाने से न केवल शरीर को ठंडक मिलती है बल्कि इसमें विटामिन सी, बी 6, नियासिन, राइबोफ्लेविन, फोलेट, तांबा, पोटैशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम व मैगनीज जैसे खनिज पाए जाते हैं, जो गर्मी में शरीर के लिए महत्वपूर्ण पानी और खनिज लवणों की कमी को पूरा करते हैं. इसमें बीटा कैरोटीन व ओलीगोनोल होता है जो दिल को स्वस्थ रखने व कैंसर कोशिकाओं को बढऩे से भी रोकते हैं. यह अस्थमा व आर्थराइटिस में भी आराम देता है. लीची पेट दर्द, आंत की बीमारी, कब्ज आदि में बहुत लाभकारी है. शुगर रोगी खाने से बचें.

मॉनसून कई मायनों में ख़ास होता है, क्योंकि लोगों को गर्मी से राहत मिलता है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here