IPL 2021 से पहले दिग्गज विकेटकीपर का बड़ा ऐलान, संन्यास के बाद होगी वापसी, धोनी से भी बेहतर है इनका रिकॉर्ड

0
Advertisement

इस सदी में जब भी सबसे बेहतरीन विकेटकीपरों की बात होती है, तो सबसे आगे एमएस धोनी, एडम गिलक्रिस्ट और मार्क बाउचर जैसे दिग्गजों के नाम आते हैं. लेकिन ये बात सिर्फ पुरुष क्रिकेट तक ही सीमित है. जब इसमें महिला क्रिकेट को भी शामिल किया जाता है, तो एक नाम सबसे पहले ध्यान आता है और वो है सारा टेलर इंग्लैंड की दिग्गज पूर्व महिला विकेटकीपर बल्लेबाज की तुलना पुरुष क्रिकेट के समकक्षों से अक्सर होती रही है. करीब 2 साल पहले सारा टेलर ने क्रिकेट मैदान पर अपने बेहतरीन दौर के बावजूद संन्यास लेकर सबको चौंका दिया था. अब टेलर ने एक बार फिर 22 गज की पिच पर वापसी का ऐलान कर दिया है. सारा टेलर इस साल होने वाले ‘द हंड्रेड’ (The Hundred) टूर्नामेंट में खेलती दिखेंगी.

और पढ़े  सचिन बनाना चाहते हैं क्रिस ट्रेमलेट जैसी बॉडी, किया मजेदार ट्वीट

Advertisement

31 साल की सारा टेलर ने सितंबर 2019 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेकर सबको चौंका दिया था. उस वक्त वह 29 साल की थीं और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेहतरीन प्रदर्शन कर रही थीं. उन्होंने मानसिक तनाव के कारण खुद को क्रिकेट से दूर कर लिया था. इसके बाद से धीरे-धीरे उन्होंने खुद को बेहतर मानसिक स्थिति में लाने की कोशिश की, जिसमें वह सफल भी रहीं. अब धीरे-धीरे वह मैदान की ओर लौटने लगी हैं.पिछले महीने ही टेलर ने इंग्लैंड के ससेक्स काउंटी क्लब में बतौर विकेटकीपर कोच अपनी जिम्मेदारी संभाली थी. अब इससे एक कदम और आगे बढ़ते हुए इस दिग्गज विकेटकीपर ने सीधे पिच पर ही अपना जलवा दिखाने की ठानी है. सारा टेलर को इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के नए फॉर्मेट वाले टूर्नामेंट ‘द हंड्रेड’ की टीम वेल्श फायर ने इस सीजन के लिए साइन किया है. टूर्नामेंट की शुरुआत इस साल 23 जुलाई से होगी.

और पढ़े  CSK, आरसीबी नहीं इस IPL टीम के फैन हैं डेल स्टेन, बताई खास वजह

सारा टेलर की गिनती महिला क्रिकेट की सबसे महान खिलाड़ियों में होती है. इंग्लैंड के लिए 200 से ज्यादा मैच खेलने वाली सारा ने न सिर्फ विकेट के पीछे कमाल दिखाया है, बल्कि एक से बढ़कर एक बेहतरीन पारियां भी खेली हैं. वह इंग्लैंड के साथ 2 वर्ल्ड कप (2009 और 2017) जीतने वाली टीम का हिस्सा रही थीं. सारा ने इंग्लैंड के लिए तीनों फॉर्मेट में 226 मैच खेले, जिसमें उनके नाम साढ़े छह हजार से भी ज्यादा रन आए हैं. विकेटकीपिंग में सारा टेलर की तुलना अक्सर महान भारतीय कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी से होती रही है. धोनी को विकेट के पीछे, खास तौर पर स्टंपिंग में सबसे बेहतरीन माना जाता है और अपने तेज हाथों से धोनी ने इस मामले में कई रिकॉर्ड बनाए हैं. लेकिन एक मामले में सारा का रिकॉर्ड धोनी से भी बेहतर है. अंतरराष्ट्रीय टी20 में जब भी सबसे ज्यादा स्टंपिंग की बात आती है, तो इस मामले में सारा भारतीय दिग्गज से काफी आगे निकल जाती हैं. धोनी ने अपने 98 मैचों में 34 स्टंपिंग की हैं, जबकि सारा ने 90 मैचों में ही सबसे ज्यादा 51 स्टंपिंग की हैं. ये महिला और पुरुष क्रिकेट में एक रिकॉर्ड है.

और पढ़े  लारा को स्कूटी पर घुमाते नजर आए सचिन, युवराज ने किया मजेदार कमेंट

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here