बड़े बदलाव के साथ पहली बार आईपीएल ट्रॉफी जीतने उतरेगी पंजाब किंग्‍स की टीम

0
Advertisement

आईपीएल के पिछले छह सीजन में प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकाम रही आईपीएल टीम पंजाब इस बार बदले हुए नाम के साथ आईपीएल में उतरने जा रही है. पंजाब किंग्स टीम आईपीएल 2021 में न केवल प्‍लेआफ में जगह बनाना चाहेगी, बल्‍कि टीम की कोशिश ये भी होगी कि इस बार पहली दफा आईपीएल की ट्रॉफी पर भी कब्‍जा किया जाए. पंजाब किंग्‍स की टीम आईपीएल 2020 में प्लेऑफ में जगह बनाने के काफी करीब थी, लेकिन उसे अंत में राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा और प्लेऑफ में पहुंचने की उसकी उम्मीदें टूट गई. पंजाब की टीम पिछले सीजन में छठे स्थान पर थी.पंजाब किंग्‍स की टीम ने इस सीजन में टीम के नाम में परिवर्तन किया है और उम्मीद की जा रही है कि इससे उन्हें कुछ फायदा मिले.

और पढ़े  कोहली का विराट धमाका, ग्रीम स्मिथ के सबसे बड़े रिकॉर्ड को तोड़कर किया यह कारनामा

इस सीजन में उसके लिए सबसे बड़ी चुनौती बल्लेबाजी क्रम में पॉवर हिटिंग है, विशेषकर पारी के अंत के समय में. कप्तान लोकेश राहुल, मयंक अग्रवाल और क्रिस गेल ने पिछले सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया था जिससे उनका टॉप आर्डर मजबूत है लेकिन मिडिल आर्डर में उसे संघर्ष करना पड़ा था. पंजाब किंग्‍स के ऑलराउंडर रहे ग्लेन मैक्सवेल ने पिछले सीजन में निराश किया था जिसके कारण टीम ने इस सीजन के लिए उन्हें रिलीज कर दिया था. ग्‍लेन मैक्सवेल इस सत्र में रॉयल चैलेंजर बेंगलोर के लिए खेलेंगे. हालांकि पंजाब ने इस बार खिलाड़ियों की नीलामी में कई खिलाड़ियों को खरीदा जिससे ना सिर्फ उसका मिडिल आर्डर और लोअर आर्डर मजबूत होगा बल्कि तेज गेंदबाजी आक्रमण में भी उसे मदद मिलेगी. पंजाब ने टीम में विश्व के नंबर-1 टी20 बल्लेबाज इंग्लैंड के डेविड मलान और मुश्ताक अली टी20 में बेहतर प्रदर्शन करने वाले शाहरूख खान को शामिल किया है. इसके अलावा उसने ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जाए रिचर्डसन को 14 करोड़ रुपये और रिले मेरेडिथ को आठ करोड़ रूपये में टीम में लिया है. पंजाब ने ऑलराउंडर मोइसेस हेनरिक्स को भी लिया जिन्होंने भारत के खिलाफ सीरीज में बेहतर प्रदर्शन किया था.

और पढ़े  टेस्ट के बाद अब टी-20 में होगी भिड़ंत, यहाँ देखिए सीरीज का पूरा शेड्यूल

पंजाब किंग्‍स के लिए परेशानी समीकरण साधना है क्योंकि आईपीएल में किसी भी टीम में सिर्फ चार विदेशी खिलाड़ियों को खेलने की ही इजाजत है. भारतीय खिलाड़ियों के होने से ही उसका गेंदबाजी आक्रमण संतुलित है. स्पिनर रवि बिश्नोई और एम अश्विन ने पिछले सीजन में बेहतर किया था. एक तथ्य यह भी है कि टीम इंडिया के पूर्व स्पिनर अनिल कुंबले उसके क्रिकेट ऑपरेशन के निदेशक हैं जिससे स्पिनरों को बेहतर मार्गदर्शन मिल रहा है. तेज गेंदबाजी आक्रमण में उसके पास मोहम्मद शमी जैसे गेंदबाज हैं जो पिछले सीजन में पंजाब किंग्‍स के सबसे सफल गेंदबाज रहे थे. वह चोटिल होने के बाद वापसी कर रहे हैं जिसके कारण वह ऑस्ट्रेलिया में तीन टेस्ट और इंग्लैंड के खिलाफ पूरी सीरीज से बाहर रहे थे. मोहम्‍मद शमी ने हाल ही में एक इंटरव्‍यू के दौरान शानदार वापसी का भरोसा जताया था. इस बीच केएल राहुल का नेतृत्व भी देखने लायक होगा. राहुल ने इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने पिछले सीजन के अंत में केएल राहुल के नेतृत्व की प्रशंसका की थी. पंजाब किंग्स का इस सीजन में पहला मुकाबला राजस्थान रॉयल्स के साथ 12 अप्रैल को होगा.

और पढ़े  IPL 2021: 5 बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस को इस सीजन में सिर्फ ये  टीम दे सकती है कड़ी टक्कर

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here