यूजर्स का डेटा कलेक्ट करने के मामले में फंसे 33 ऐप्स, चीन ने लगाई फटकार, जानें क्या है पूरा मामला

0
Advertisement

उपयोगकर्ताओं और चीन के साइबरस्पेस प्रशासन की शिकायतों के बाद, चीन ने 33 ऐप सूचीबद्ध किए हैं, जिसमें Baidu और टैनेंट जैसी प्रौद्योगिकी कंपनियां शामिल हैं, जो कथित रूप से उपयोगकर्ता डेटा एकत्र कर रहे थे और नियामक नियमों का उल्लंघन कर रहे थे। उन्हें केवल 15 दिनों के भीतर अपनी कमियों को सुधारने का निर्देश दिया गया है।

Advertisement

ZDNet की एक रिपोर्ट के अनुसार, उपयोगकर्ताओं की शिकायतों का हवाला देते हुए, चीन के साइबरस्पेस प्रशासन ने विभिन्न नियमों का उल्लंघन करने के लिए 33 मोबाइल ऐप सूचीबद्ध किए हैं। चीन के साइबरस्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (CAC) ने एक बयान में कहा कि ऐप्स ने स्थानीय नियमों का उल्लंघन किया। विशेष रूप से, व्यक्तिगत डेटा को ट्रैक करना या एकत्र करना उनकी सेवा के लिए प्रासंगिक नहीं है। एजेंसी ने कहा, “जब अधिकारियों ने मैप नेविगेशन ऐप सहित अन्य ऐप का आकलन किया, तो उन्होंने पाया कि इन ऐप के ऑपरेटरों ने नियमों का उल्लंघन किया है।

और पढ़े  ब्रिटेन में पाकिस्तान के लोगों की एंट्री पर बैन, इन तीन देशों पर भी लगाई रोक

भारत की दूसरी डिजिटल हड़ताल: 47 और चीनी मोबाइल ऐप अवरुद्ध  बिजनेस स्टैंडर्ड न्यूज

ये ऐप जो नियम तोड़ते हैं और उपयोगकर्ता डेटा एकत्र करते हैं, उनमें सोगू, Baidu, Tencent, QQ और Zhejiang Jianxin टेक्नोलॉजी के ऐप शामिल हैं। चीन की सरकार ने टेक कंपनियों के बढ़ते प्रभाव को रोकने और उपयोगकर्ताओं के अधिकारों की रक्षा करने के प्रयासों को आगे बढ़ाया है। इसी नस में, चीनी नियामकों ने पिछले महीने ई-कॉमर्स दिग्गज अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग्स पर 18.2 बिलियन युआन (2.8 बिलियन) का जुर्माना लगाया था। अलीबाबा के स्वामित्व वाली दक्षिण चीन मॉर्निंग पोस्ट के अनुसार, राज्य प्रशासन द्वारा मार्केट रेगुलेशन (SAMR) के लिए जैक मा की कंपनी को चिप निर्माता क्वालकॉम (6.1 बिलियन युआन) द्वारा किए गए भुगतान दोगुने से अधिक हैं। अलीबाबा पर एकाधिकार विरोधी नियमों का उल्लंघन करने के लिए जुर्माना लगाया गया था।

और पढ़े  बाइक पर सवार होकर गाँव में घुसे आतंकी, देखते ही देखते बिछ गई 137 लोगों की लाशें


Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here